Newspaper Designing Kaise Kare |Layout of Newspaper

Newspaper Designing पत्रकारों के लिए एक ऐसी Skill है जिसे पत्रकारिता में सबसे जरूरी माना गया है। यह Skill आपके भविष्य को एक नए मुकाम पर पहुंचा सकता है। इसीलिए यदि आप इस जरूरी स्कील को अपने जीवन में उतरना चाहते है और कुछ नया सीखना चाहते है तो आप हमारे इस लेख के ज़रिये Newspaper Designing Kaise Kare और नेवसपपेर डिज़ाइन करते वक़्त किन जरूरी बातो को ध्यान में रखे और भी बहुत कुछ सीखेंगे। चलिए बात करते है आगे के विषयो पर ।

सबसे पहले हमे इस बात का ध्यान रखना जरूरी है की हम जो डिज़ाइन बना रहे है तो उसका Structure कैसा होना चाहिए मतलब की वह कैसा दिखना चाहिए। क्योकि आप ने यह जरूर देखा होगा की अलग अलग प्रेस के अखबारों का डिज़ाइन एक दूसरे से अलग अलग होता है। क्युकी यही Approach किसी भी चीज़ को डिज़ाइन करने से पहले ध्यान रखी जाती है।

Table of Contents

    What is Newspaper Layout

    Layout का मतलब है की जो भी आप कंटेंट उस डिज़ाइन में डालना चाहते है वह किस तरह से दिखना चाहिए और उसे कितने कलुमंस में डिवाइड करना है ताकि वह देखने में एकदम प्रोफेशनल हो। इसमें हम भिन्न भिन्न प्रकार के साइज की लाइन्स और कोर्स का उपयोग करते है।

    लेआउट रौ और Columns में Divide होता है जो कम्पलीट न्यूज़ पेपर में आपको देखने को मिल सकती है। ले-आउट में हर चीज़ टुकड़ो में बँटी होती है और हमे उन्ही टुकड़ो को ठीक ढंग से लगाना होता है जिससे Last में हमे एक Complete Layout या डिज़ाइन मिल जायेगा। जिसमे हम बाद में अपना Content Fill कर सकते है।

    Newspaper कम से कम 4 और ज्यादातर 8 Sections में Divide होता है जो आपको ज़्यदातर Newspapers में देखने को मिल जायेगा । परन्तु कुछ अख़बार 8 से कम सेक्शंस का भी उपयोग करते है ताकि वह अपने अख़बार में भिन्न भिन्न प्रकार के सेक्शंस को Add कर सके और अपने कस्टमर्स को अलग अलग चीज़े को एक ही पेज पर ज्यादा से ज्यादा दिखा सके।

    Types of Layout in Newspaper

    newspaper-designing-kaise-kare

    अख़बार को डिज़ाइन करते वक़्त हमे उसके ले-आउट के बारे में सबसे ज्यादा ध्यान रखना पड़ता है क्युकी Newspaper का डिज़ाइन ही उसकी पहचान होती है इसीलिए ले-आउट के बिना किसी भी नेवसपपेर को डिज़ाइन करना लगभग नामुमकिन सा है। सामान्यतः 4 प्रकार के लेआउट का इस्तेमाल होता है।

    • Process Layout
    • Product Layout
    • Hybrid Layout
    • Fixed Position Layout

    Types of Newspaper Design

    Newspaper को डिज़ाइन करने के लिए हम एक Specific ग्राफ़िक डिजाइनिंग सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते है जिसमे हमे पहले से बने कुछ Templetes भी मिल जाते है और यदि हम अपने ढंग से न्यूज़ पेपर को डिज़ाइन करना चाहते है तो वह भी मुमकिन है।

    Designing सॉफ्टवेयर हमे बहुत से पेज साइज दिखता है जो न्यूज़ पेपर को डिज़ाइन करने में अहम् भूमिका निभाते है क्युकी हर पेज का साइज एक दूसरे से भिन्न हो सकता है इसीलिए डिजाइनिंग में पेज कैसा दीखता है और पेज साइज जरूरी factors है।

    4 प्रकार के पेज Designs को अखबार डिजाइनिंग में इस्तेमाल किया जाता है वह है :

    • Broadsheet Design
    • Tabloid Design
    • Berliner Design
    • Compact Design

    1.Broadsheet Design अभी तक का सबसे पुराण और सबसे फेमस पेज Designs में से एक है इसका पेज साइज 33.1-inch by 23.4-inch है। इस पेज डिज़ाइन का इस्तेमाल आज भी बहुत से शहरों में किया जा रहा है क्युकी इसमें एक ही पेज पर ज्यादा से ज्यादा न्यूज़ को Arrange किया जाता है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण अमेरिका का प्रसिद्ध अख़बार The न्यूयोर्क टाइम्स है।
    2.Tabloid Design Tabloid Design सिर्फ सनसनीखेज व कुछ खलबली मचाने वाली शानदार खबरों के लिए तैयार किया जाता है और यह किसी भी टॉपिक पर हो सकती है जैसे अपराध , गॉसिप्स, या राजनीती इत्यादि। इसका कोई एक स्टैण्डर्ड साइज नहीं है पर आपको यह ब्रॉडशीट डिज़ाइन के आकार का आधा यानि लगभग 11 इंच चौड़ा और 17 इंच लम्बा होता है। इस डिज़ाइन में सबसे ज्यादा फोटोग्राफ्स देखने को मिलेगी।
    3.Berliner Design यह डिज़ाइन आपको Tabloid डिज़ाइन से थोड़ा लम्बा और चौड़ा देखने को मिलेगा और इसका साइज 18.5 / 12.4 होता है।
    4.Compact Design यह डिज़ाइन आपको लगभग टेबलायड डिज़ाइन के जैसा ही देखने को मिलेगा और इसका यह अख़बार 11 inch / 16.8 इंच का देखने को मिलेगा। यह साइज भी अख़बार निर्माता कम्पनीज अलग अलग इस्तेमाल करती है। इसे हम Magazine फॉर्मेट के नाम से भी जानते है।

    Why Designing of a Newspaper is Important

    • Newspaper का डिज़ाइन ही उसकी पहचान होता है इसीलिए Layout अच्छा बनाकर हम अपने अख़बार को ज्यादा Attractive दिखा सकते है।
    • Layout में फेर बदल कर हम बहुत से जरूरी Columns को अपने अखबार के Main पेज पर लेकर Readers का ध्यान किसी मुख्य खबर पर ला सकते है।
    • यदि आप एक स्टैण्डर्ड साइज का इस्तेमाल नहीं करना चाहते तो आप किसी दूसरे ले-आउट साइज का भी इस्तेमाल करके एक नया ले-आउट बना सकते है।
    • आप अपने ले-आउट में ज्यादा से ज्यादा Pictures को दिखाकर भी अपने Newspaper डिज़ाइन को अद्धभुत बना सकते है।

    Importance of Layout in Newspaper

    • Layout के द्वारा हम ज्यादा से ज्यादा खबरों को मुख्य पेज पर दिखा सकते है इसलिए ले-आउट का Simple और Easy होना अनिवार्य है।
    • यदि ले-आउट अच्छा नहीं है तो रीडर्स वह पसंद नहीं करेंगे फिर चाहे अपने उसमे बढिये से बढ़िया खबरे भी क्यों न लगाई हो इसीलिए ले-आउट को रीडर्स के अनुसार बनाने की कोशिश करे।
    • कुछ रीडर्स सिर्फ विशेष खबरों के लिए ही अख़बार पढ़ते है इसीलिए जितना सरलता हो सके आप उनको अपने ले-आउट में शामिल करे।
    • न्यूज़ पेपर का ले-आउट जितना सरल होगा उतना ही आपके रीडर को किसी न्यूज़ को ढूंढ़ने में और पढ़ने में आसानी होगी।

    Newspaper Designing Tools


    न्यूज़ पेपर डिजाइनिंग के लिए आप बहुत से टूल्स का इस्तेमाल कर सकते है और यह सभी टूल्स अपने आप में बेहतरीन है। चलिए जानते है वह कोन से टूल्स है:

    • Adobe In Design
    • Corel Draw
    • Adobe Photoshop
    • Page-Maker
    • LucidPress

    इन सभी टूल्स में सबसे ज्यादा Adobe InDesign का इस्तेमाल होता है क्युकी यह हमें बाकि सब टूल्स से अधिक और बेहतरीन Options प्रदान करता है इसलिए हम आपको एक सुझाव देते है की आप इस टूल का इस्तेमाल करना सबसे पहले सीखे।

    Newspaper Designing Websites

    यदि आप कोई भी टूल अपने कंप्यूटर इत्यादि में इस्तेमाल नहीं करना चाहते है तो आप न्यूज़ पेपर के डिज़ाइन को ऑनलाइन किसी वेबसाइट पर जाकर भी बड़ी ही आसानी से बना सकते है इसके लिए आपको सिर्फ कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन की ही जरूरत होगी चलिए जानते है वह कोनसी Websites है जहा आप ऑनलाइन ही सारा काम कर सकते है।

    • Canva.com
    • Flipsnack.com

    Elemets/Parts of Newspaper

    newspaper-designing-kaise-kare

    वैसे तो हम हर रोज़ सुबह सुबह अख़बार तो पढ़ते है परन्तु पढ़ने के अलावा अख़बार के विभिन भाग जिन्हे जोड़कर अख़बार डिज़ाइन किया जाता है उनके बारे में हमे या तो पता ही नहीं है या बहुत ही कम पता होता है इसीलिए आज जानते है की अख़बार किन किन भागो से मिलकर बनता है:

    1.इसे हम Mast Head के नाम से जानते है क्युकी यह अख़बार का नाम या ब्रांड नाम होता है।
    2.यह हर ब्रांड की Tagline या Slogan होता है जो हर Company अपने Brand नाम के साथ करते है।
    3.इसे हम Ear Panels या Side Corners के नाम से जानते है जिसमे यह Left Ear है
    4.इस Side कार्नर को हम Right Ear के नाम से जानते है।
    5.अख़बार में लिखित रूप में लिखा जाने वाला Material Columns में बंटा होता है जैसा की आप ऊपर दिए Picture में देख पा रहे है।
    6.इसे हम Banner हैडलाइन कहते है क्युकी यह Front पेज पर छपी है इसे Main हैडलाइन भी कहा जा सकता है।
    7.Main हैडलाइन के ऊपर आने वाली हैडलाइन Kicker Headline कहलाती है।
    8.Main हैडलाइन के निचे आने वाली हैडलाइन Sub-Heading कहलाती है।

    Newspaper Design Kaise Kare

    न्यूज़ पेपर डिज़ाइन करने के लिए आपको एक सॉफ्टवेयर Adobe InDesign की जरूरत पड़ेगी और आपको Youtube की बहुत सी Videos मदद कर सकती है और हम भी आपके लिए एक Complete वीडियो तैयार कर रहे है जो यक़ीनन आपको पसंद आएगी इसीलिए आप इस ब्लॉग पर अपनी निगाह बनाये रखे। आप इस वीडियो के ज़रिये न्यूज़ पेपर को कैसे डिज़ाइन करे और न्यूज़ पेपर से जुडी बहुत सी बेहतरीन जानकारिया मिलेगी

    आज अपने क्या नया सीखा

    आज अपने सीखा Newspaper Designing Kaise Kare |Layout of Newspaper साथ में Newspaper Designing Tools or Softwares के बारे में भी जानकारी प्राप्त की हम आशा करते है की आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। आपको हमारा यह लेख किए लगा इसके बारे में हमे कमेंट कर जरूर बताये। धन्यवाद्

    FAQ About Newspaper

    Q1. अखबार को डिजाइन करते वक्त किन जरुरी बातो का ध्यान रखना चाहिए?

    Ans: अख़बार को डिज़ाइन करते वक़्त हमे उसके Layout, Title, White Spaces और Pictures का सबसे अधिक ध्यान रखना चाहिए।

    Q2. क्या Newspaper Designing में हम Multi Colours का उपयोग कर सकते है?

    Ans: नहीं, हमे न्यूज पेपर में एक अच्छा कलर कॉम्बिनेशन बनाना है और एक साथ काफी सारे colours को इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

    Q3. क्या न्यूज़ पेपर डिज़ाइन में 12 Columns इस्तेमाल कर सकते है ?

    Ans: नहीं, इससे हम न्यूज पेपर में भीड़ जैसी स्तिथि बना देंगे और जिससे पढ़ने वाले को यह पसंद नहीं आएगा। आप ज्यादा से ज्यादा 8 Columns का ही इस्तेमाल करे और जितना हो सके अपने Layout को सिंपल रखे।

    Deepak

    I work as a full-time Microsoft Certified Trainer and from the very beginning, I love to share my knowledge with others. That's why I'm with you today.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *