Robot Kya Hota Hai और Anatomy of Robot क्या है?

Robot Kya Hota Hai -What is Robot in Hindi और जानते है की रोबोट कितने प्रकार के होते है?आज की इस पोस्ट में हम एक ऐसी दिलचस्प चीज़ के बारे में बात करने वाले है जिसको अपने टेलीविज़न पर फिल्मो में खूब देखा है। चलिए मै आपको इसके बारे में काफी सारी मजेदार बाते बताता हूँ। आज हम बात करने वाले है की Robot क्या होता है ? (Robot in hindi) और यह क्या क्या काम कर सकता है इसके साथ साथ और भी बहुत कुछ जानेगे।

जब भी हम Robots की बात करते है तब हमारे मन में एक सवाल जरूर आता होगा की ये अपने आप इतना कुछ कैसे समझ लेते है और कैसे हर कार्य को इंसानो के मुकाबले बड़ी ही आसानी से कर लेते है। इनके बारे में हर दूसरे इंसान ने जरूर सुना होगा पर यक़ीन मानिये रोबोट्स को बनाने में और इसको कार्यकृत करने में क्या और कैसी टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होता है ये बहुत कम लोगो को ही पता होगा।

आज हम इस पोस्ट में आपको Robot क्या होता है इस जानकारी के साथ इनसे जुडी बहुत सी जानकारियों का भी ज्ञान होगा।

Table of Contents

    Robot Kya Hota hai? ( Robot in Hindi)

    Robot क्या होता है और Anatomy of Robot क्या है?

    Robot एक ऐसी Technology है जो हमारे भविष्य में हमारे साथ कंधे से कन्धा मिलकर चलेगी। जिसमे कुछ पार्ट्स जैसे एक या एक से ज्यादा Arms, कुछ Sensors और एक ऐसा यन्त्र जो मनुष्य की आवाज़ के साथ काम कर सकते है और मनुष्य द्वारा दिए गए कार्यो को सुन सकता है और उन्हें तुरत ही कर सकता है।

    अगर हम short में बात करे तो रोबोट्स इसीलिए बनाये जाते है क्युकी जिन विषयो या स्थानों में किसी मनुष्य का जाना या कार्य करना संभव नहीं ये उस काम को बड़ी ही आसानी से पूरा कर देते है वैसे ये मनुष्यो की तरह ही होते है और उनकी तरह देख और सुन सकते है यही नहीं आज की टेक्नोलॉजी से बने रोबोट्स आपकी Feelings  को भी समझ सकते है

    Robot Technology को बनाने में केवल एक ही टेक्नोलॉजी का उपयोग नहीं होता इसमें दूसरी भिन्न भिन्न प्रकार की Technologies का भी उपयोग होता है जैसे की मैकेनिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इंडस्ट्रियल इंजिनीरिंग और भी बहुत। इन सबके बिना इनको बनाने के बारे में हम कल्पना भी नहीं कर सकते।

    Robot Word की उत्पति एक लेखक Karel Capek ने 1922 में की थी जब उन्होंने एक स्टोरी “Rossunis Universal Robot” लिखी थी और वही से सबसे पहले हमे “ROBOTA” शब्द मिला जिसका हिंदी में अर्थ है “एक नौकर” बाद में इस शब्द को इंग्लिश में ट्रांसलेट करके रोबोट बना दिया गया तभी से रोबोट शब्द दुनिया में जाना गया।

    यह भी पढ़ें : Google Lens Kya Hai और PC में Download कैसे करे?यह भी पढ़ें : CAPTCHA Code Kya Hota Hai- पूर्ण जानकारी

    What is Robotics (रोबोटिक्स इन हिंदी)

    Robot क्या होता है और Anatomy of Robot क्या है?

    Robotics Word की उत्पति रोबोट शब्द से ही हुई है और बात करे की रोबोटिक्स क्या है देखिये इसमें हम 3 मुख्य Operations पर ध्यान देते है और ये सभी एक रोबोट बनाने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है:

    • Designing
    • Construction
    • Operation

    सबसे पहले हमें एक स्ट्रक्चर और डिज़ाइन बनाना होता है जैसा रोबोट हम बनाना चाहते है क्या आपका डिज़ाइन आपके हिसाब से है या नहीं। जब आप एक डिज़ाइन को सेलेक्ट कर लेते है तब आप एक अगले प्रोसेस कंस्ट्रक्शन Phase में जाते हो और वह इसको बनाने के बारे में सोचते हो जब आपका यह प्रोसेस भी पूरा हो जाये तब आप final प्रोसेस ऑपरेशन Phase में जाते हो जहा आपको उसके परिचालन प्रक्रिया पर ध्यान देते हो इन्ही सभी प्रक्रियाओ को पूरा करने पर हम एक रोबोट त्यार करते है।

    Robot कैसे काम करता है? (Robot Anatomy )

    Robots कार्य करने के लिए अपने कुछ Structural Parts का उपयोग करते है यही सब Parts रोबोट Anatomy कहलाता है इसका मतलब यह है की रोबोट को बनाने में जिन पार्ट्स का उपयोग होता है और जब हम रोबोट के उन अलग अलग पार्ट्स और स्ट्रक्चर की बात करते है तो उसे ही एनाटोमी कहा जाता है।

    वैसे तो इंसान की बॉडी में सभी पार्ट्स को एक अलग अलग नाम दिया गया वैसे ही रोबोट की बॉडी के पार्ट्स को भी अलग अलग नाम दिया गया है पर इंसानी शरीर के जो नाम दिए गए है वैसे हम रोबोट की बॉडी के पार्ट्स को उसी तरह नहीं बोल सकते जैसे : head, leg या chest यहाँ हम इन्ही पार्ट्स के बारे में बात करेंगे ।

    • Robot Base
    • Actuator
    • Manipulator
    • Controller

    Robot Base

    इसमें हम 2 टाइप्स के रोबोट्स की बात करते है एक वह जो अपने स्थान पर रहकर ही सभी कार्य करते है मतलब की वह एक स्थान से दूसरे स्थान पर नहीं जा सकते और दूसरे वह जो एक स्थान से दूसरे स्थान पर आसानी से जाकर अपना कार्य कर सकते है।

    इसमें पहले वाले रोबोट का टाइप Static कहलाता है और दूसरे वाले रोबोट का type Mobile कहलाता है। इन्ही को हम रोबोट Base कहते है। मोबाइल बेस का एक अच्छा उदाहरण फिल्मो में देखने को मिलता है जैसे : रोबोट 2.0 Movie

    Actuator

    Actuator का मतलब यहाँ उस Power से है जो की रोबोट को चलने फिरने में सहायता करेगी। रोबोट को हम 2 तरह की पावर से चला सकते है जोकि है इलेक्ट्रिकल एनर्जी , हाइड्रोलिक Power इस पावर के बिना रोबोट की कार्यप्रणाली अधूरी ही रहती है।

    Manipulator

    रोबोटिक्स संरचना में यह बेहद जरूरी पार्ट होता है क्युकी अपने देखा होगा रोबोट्स जिस भी काम को करते है उसमे उनके हाथ ही सबसे महत्वपूर्ण पार्ट होता है इसीलिए इसमें 3 जरुरी पार्ट्स पर ध्यान रखा जाता है क्युकी हमारा सारा कार्य इन्ही 3 पार्ट्स पर निर्भर होता है।

    • Arm
    • Wrist
    • End Effector

    1.Human बॉडी में जो शोल्डर वाला पार्ट होता है इसे हम रोबोट टर्मिनोलॉजी में Arm के नाम से जानते है।

    2. Human बॉडी में Elbow वाला पार्ट होता है जिसे हम हिंदी में कलाई भी बोलते है पर इसे हम रोबोटिक्स लैंग्वेज में Wrist के नाम से जानते है।

    3. जैसा की आप जानते है की मनुष्य के हाथ में उंगलिया और हथेली होती है जिसको हम Hand बोलते है पर रोबोट के इस पार्ट को हम End Effector के नाम से जानते है।

     

    Controller

    कंट्रोलर के द्वारा हम रोबोट के कार्यो को कैसे कार्य करवाना है हम इसी कंट्रोलर के द्वारा करते है इसमें भी 3 मुख्य चीज़ो का उपयोग किया जाता है:

    1. Sensors

    2. Processor

    3. फीडबैक System

    देखिये Sensors का उपयोग रोबोट को अपने चारो तरह की बाधाओ को समझने में मदद करता है क्युकी Sensors ही रोबोट को सामने रास्ते में कोई चीज़ पड़ी है या नहीं यह पता लगाने में मदद करता है।

    वही बात करे प्रोसेसर की तो प्रोसेसर ही रोबोट को अपने निर्णेय लेने के लिए सूझबूझ प्रदान करता है और फीडबैक सिस्टम का कार्य इतना होता है की रोबोट जो कार्य कर रहा है वह क्या कार्य कर रहा है और कैसे कर रहा है सिर्फ इसकी जानकारी को इक्कठा करता है।

    यह भी पढ़ें : LinkedIn Kya hai और सीखिए LinkedIn से Job कैसे ढूंढे?
    यह भी पढ़ें : Google Classroom Kya Hai?|Download for windows 7

    Laws of Robotics (रोबोटिक्स के नियम)

    वैसे तो रोबोट्स हमारे सभी कार्यो को बड़ी ही तेज़ी और आसानी से कर सकता है पर जब बात रोबोट्स को बनाने की होती है तब रोबोटिक्स के कुछ नियमो को ध्यान में रख कर ही बनाया जाता है अगर यह नियम या दायरे पर ध्यान न दिया जाये तोह रोबोट्स हमारे लिए खतरा भी बन सकते है। इसमें हम सबसे ज्यादा इन 3 जरुरी Laws of robotics का ध्यान रखते है:

    • पहला नियम यह बताता है की रोबोट किसी भी इंसान को चोट नहीं पहुंचाएगा मतलब की आप जो भी रोबोट बना रहे हो तो आपको इस बात का ध्यान रखना पड़ेगा की आपका रोबोट इस नियम का पालन करता हो।
    • दूसरा नियम यह बताता है की आपका रोबोट उसके मालिक द्वारा दिए गए ऑर्डर्स को माने पर इसमें आपको ये ध्यान रखना है की वह बिना पहले नियम को तोड़े इसका पालन करे।
    • तीसरा नियम यह बताता है की रोबोट अपने आप को बचाने के लिए कुछ प्रोसेस कर सकता है पर ध्यान रहे वह यह जो भी प्रोसेस करेगा उसमे पहला नियम और दूसरा नियम टूटने नहीं चाहिए।

    Different Types of Robots (रोबोट्स कितने तरह के होते है)

    आजकल हम देख रहे है की रोबोट्स देश के सभी सेक्टर्स में अपने पाव मजबूत कर रहा है और लगातार आगे बढ़ रहा है पर जितने भी आप ये रोबोट्स देख रहे है ये सब एक तरह के ही रोबोट्स नहीं है क्युकी हर रोबोट के कार्य करने की कार्यप्रणाली अलग अलग है। आज हम ऐसे ही कुछ रोबोट्स की बात करेंगे जो हमारे आस पास कार्य कर रहे है।

    • Pre-Programmed Robots
    • Autonomous Robots
    • Humanoid Robots
    • Tele-Operated Robots
    • Augementing रोबोट्स

    1. Pre-Programmed Robots

    इन्हे सिर्फ एक ही जैसा काम करने के लिए बनाया जाता है इसमें हम प्रोग्रामिंग करके नया कोड डालकर कोई दूसरा काम नहीं करवा सकते इसीलिए एक जैसा काम से मेरा मतलब यह है की अपने बहुत सी कम्पनीज में सिर्फ सामान को एक जगह से दूसरी जगह पर रखने के लिए Robot Arms देखि होगी बस उनका यही काम होता है की एक सामन को उठा कर दूसरी जगह पर रख देना है ऐसे रोबोट्स को हम प्रे-प्रोग्राम्ड रोबोट्स कहते है।

    2. Autonomous Robots

    यह Automatically काम करते है इसके लिए आपको कोई रिमोट कण्ट्रोल या किसी भी Buttons वगैरा की आवशयकता नहीं होती है आपको सिर्फ एक बार उनके सिस्टम में कार्य अपडेट करना है फिर वह खुद से वही काम ही करेगा जो अपने उसके सिस्टम को दिया है इस टाइप के रोबोट्स को हम ऑटोनोमस रोबोट्स कहते है।

    3. Humanoid Robots

    Humanoid शब्द से आपको एक शब्द सुनाई दे रहा होगा Human इसका मतलब यह है की यह रोबोट्स इंसान की तरह दीखते है इनकी पूरी संरचना इंसानो की तरह ही होती है जैसे की हाथ, पैर, सर इत्यादि। ये रोबोट्स इंसानो की तरह सोचना और उनकी तरह काम करने में सक्षम है इसके लिए एक टेक्नोलॉजी AI का इस्तेमाल होता है जिसके कारण उनको निर्णय लेने में सहायता मिलती है। इस तरह के रोबोट्स को हम ह्यूमनॉयड रोबोट्स कहते है।

    4. Tele-Operated Robots

    टेली-ऑपरेटेड रोबोट्स Heavy काम या किसी बड़े काम के लिए इस्तेमाल होते है इनका इस्तेमाल Industrial उपयोग के लिए ज्यादा होता है इस रोबोट का सबसे अच्छा उदाहरण NASA का एक मिशन Mars है जहा नासा ने एक Rover को पृथ्वी से मंगल गृह पर रिसर्च करने भेजा था।

    इसमें मुख्य बात यह है की इसका पूरा कण्ट्रोल धरती से हो रहा था इसके लिए कोई प्रे-प्रोग्रम्मिंग की जरुरत नहीं थी। यह टेली-ऑपरेटेड रोबोट्स कहलाते है।

    5. Augmenting Robots

    ऑग्मेंटिंग रोबोट्स Heavy Lifting और Heavy Endurance के काम करने मे शक्षम होते है उदाहरण के लिए: Exoskeleton Suit. इसमें एक ऐसा ढांचा तैयार किया जाता जो इंसान अपने शरीर पर पहनकर भारी से भारी काम बड़ी ही आसानी से कर सकता है ऐसे रोबोट्स ऑगमेंटिंग रोबोट्स कहलाते है।

    Advantage and Disadvantage of Robotics (Robotics लाभ व हानि)

    वैसे देखा जाये तो रोबोट्स को देख कर कोई ये नहीं कह सकता की यह जितना हमारे लिए फायदा पहुंचते है शायद ये उतना ही हमारे लिए हानिकारक भी हो सकते है क्युकी वास्तव में जो भी चीज़ हमारे आस पास है अगर उसका हमे फायदा है तो यकीं मानिये उसका कोई न कोई नुकसान भी जरूर होगा। ऐसे ही कुछ फायदे / नुकसान के बारे में हम बात करेंगे।

    Advantages of Robotics

    • रोबोटस का इस्तेमाल आप ऐसी जगह पर कर सकते है जहा पर किसी जान माल को हानि हो सकती है ये ऐसी जगह पर मुश्किल कार्य को भी बड़ी ही आसानी से कर सकता है।
    • यह आपके बिज़नेस की उत्पादकता (Productivity) को बढ़ने में भी कारगर सिद्ध हो सकते है।
    • आप इन्हे जैसे तैयार करेंगे ये वैसे ही कार्य करने में सक्षम है।
    • यह 24 घंटे बिना थके कार्य कर सकते है।

    Disadvantages of Robotics

    • इनको तैयार करना बड़ा ही महंगा होता है।
    • जिस तरह से रोबोट्स पुरे दुनिया में सभी सेक्टर्स में आ रहे है इससे आगे चलकर इंसानो की Jobs पर इसका सबसे ज्यादा असर होगा।
    • रोबोट्स खुद से नहीं सोच सकते वे सिर्फ उस कोड या प्रोग्राम पर निर्भर रहते है जो की उसको बनाने वाले ने उसके सिस्टम में डाला है।

    आज अपने क्या सीखा

    दोस्तों आज अपने इस पोस्ट में Robot Kya होता है और इससे सम्बंधित बहुत सी जानकारियों के बारे में जाना। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी है तो कृपया आप कमेंट बॉक्स में इस पोस्ट के बारे में अपने सुझाव लिखे ताकि हम आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सके। कृपया यह पोस्ट अपने मित्रो के साथ भी शेयर करे धन्यवाद् ।

    Deepak

    I work as a full-time Microsoft Certified Trainer and from the very beginning, I love to share my knowledge with others. That's why I'm with you today.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *