Google Bert Model Kya Hai| Hindi me- 2021

आप भी काफी दिनों से Google BERT Algorithm Kya Hai के बारे में लगातार इंटरनेट पर सुन रहे है क्युकी जो लोग भी ब्लॉग्गिंग या कोई वेबसाइट चलाते है सबसे ज्यादा वही लोग आपको इन सब चीज़ो के बारे बात करते नज़र आएंगे।

गूगल लगातार अपने सिस्टम्स को अपडेट करने के लिए इस तरह की Algorithms बनता ही रहता है क्युकी हर टेक्नोलॉजी कभी न कभी पुरानी हो जाती है इसलिए गूगल हमेशा अपने सिस्टम्स को ऐसे Models से अपडेट रखता है। ऐसी ही एक Algorithm है BERT Algorithm Model

Table of Contents

    Google Bert Algorithm Kya Hai?

    गूगल Bert की फुल फॉर्म है Bidirectional Encoder Representation From Transformer। आपको बता दे की यह गूगल की वर्किंग Algorithms में से एक है। जो की गूगल अपने ही वर्किंग सिस्टम को ज्यादा कुशल बनाने के लिए तैयार करता है। यह एक न्यूरल नेटवर्क बेस्ड मॉडल है जोकि हमारे दिमाग में पाए जाने वाले न्यूरॉन्स की थ्योरी से ही प्रेप्रित होकर इसको न्यूरल नेटवर्क नाम दिया गया।

    यह दुनिया की हर country में और यूजर द्वारा की गयी हर एक सर्च में इस्तेमाल किया जा रहा है

    यह Algorithm Oct 2019 को लॉच की गयी थी जोकि लगभग 65-70 Languages में काम करती है और 6 ऐसी लैंग्वेजेज है जिनमे यह सबसे ज्यादा काम करती है वह है:

    • Spanish
    • Portuguese
    • German
    • Amharic
    • Hindi
    • Arabic

    यह अल्गोरिथम गूगल की इंटेलिजेंस को बढाती है मतलब यह लोगो द्वारा गूगल में सर्च करने की प्रोसेस को बेहतर करता है मान लो जैसे जब कोई व्यक्ति गूगल पर कोई 2-3 वर्ड्स का Sentence सर्च करता है तब गूगल वह आसानी से समझ लेता है।

    मान लो कोई ऐसा इंसान जो कोई लम्बी लाइन के Sentence को गूगल में ढूंढ़ने के लिए टाइप करता है तब गूगल पहले ये सब नहीं समझ पता था पर अब इस Bert अपडेट के बाद उसको लम्बी लाइन की Queries भी अच्छे से समझ आ सकती है की व्यक्ति असलियत में क्या ढूंढ रहा है।

    अगर Short में कहे तो अब गूगल अब Natural words me लिखी लम्बे वर्ड्स की लाइन को भी आसानी से समझ कर उससे सम्बंधित रिजल्ट्स दिखा सकता है।

    गूगल बर्ट कैसे काम करता है?

    यह अल्गोरिथम एक Bi-directional टेक्नोलॉजी पर काम करता है देखिये जब किसी सिस्टम द्वारा Left से Right पढ़ा जाये उसे Unidirectional कहा जाता है और जब सिस्टम दोनों साइड से एक साथ पढ़ सके उसे हम Bi-directional कहते है। अगर बात गूगल की की जाये तो मन लीजिये ये एक Sentence है What is Bert? अब बर्ट वर्ड के भी 2 मतलब है।

    अब गूगल को कैसे पता चलेगा की उसको कोन सा रिजल्ट User को शो करना है वह Use होती है यह Bi-directional Technology जिसमे की वह इस Word के लेफ्ट और राइट में जो Words लगे है उन्हें पढ़ कर वह पूरा मतलब निकल कर यूजर के Intent अनुसार रिजल्ट दिखा देता है। अब यह एक Long Tail Keyword था जिसे गूगल बर्ट मॉडल की वजह से अच्छे से पहचान सकता है।

    यह भी पढ़ें : Google Lens Kya Hai और PC में Download कैसे करे?
    यह भी पढ़ें : CAPTCHA Code Kya Hota Hai- पूर्ण जानकारी

    गूगल बर्ट से हमारी वेबसाइट में क्या बदलाव आएगा?

    जबसे बर्ट मॉडल अल्गोरिथम अपडेट हुई है तबसे सभी के दिमाग में बहुत सी गलत फेहमिया उनको घेरे हुए है लोग सबसे पूछ रहे है की:


    1. क्या इस अपडेट से हमारी वेबसाइट की रैंकिंग बढ़ जाएगी।
    2. क्या इस अपडेट से हमारी वेबसाइट की रैंकिंग घट जाएगी।
    3. इस अपडेट के बाद क्या हमे हमारी सो statregy बदलनी पड़ेगी।

    और भी बहुत कुछ लगातार सबसे यही सवाल पूछा जा रहा है पर मै आपको बता दू की आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट में कुछ भी चेंज या उसके बारे में सोच सोच कर अपने दिमाग को Confusion में मत डालो क्युकी यह अपडेट सिर्फ गूगल ने अपने खुद के सिस्टम के लिए किया है जिससे गूगल Results को बेहतर बनाया जा सके और जो यूजर गूगल पर कुछ भी लम्बा वाक्य ढूंढेगा तो उसे बेस्ट रिजल्ट मिलेंगे। क्युकी हर वर्ड का मीनिंग अलग अलग हो सकता है इसीलिए अब ये मॉडल गूगल को उन दोनों वर्ड्स को समझने में मदद करेगा की यूजर क्या चाहता है।

    बर्ट अपडेट पर गूगल का क्या कहना है?

    Google Bert मॉडल अपडेट के बारे में एक यूजर ने जब गूगल से पूछा की क्या उन्हें अपने Content Production में कुछ Changes करने की आवशयकता है तो आप देख सकते है की गूगल के सर्च सलाहकार ने उस यूजर को जवाब देते हुए कहा की यह अपडेट सिर्फ यूजर के लिए है ताकि यूजर जब कुछ सर्च करता है तब उसे बेस्ट Experience मिले और इसके लिए कंटेंट क्रिएटर को किसी भी प्रकार की Changes करने की आवशयकता नहीं।

    इसमें सबसे ज्यादा इम्पैक्ट Rich Snippet Results पर पड़ा है क्युकी गूगल चाहता है की वह यूजर को एक दम सटीक उत्तर प्रदान करे और जो भी वह ढूंढ रहा है उसे सबसे पहले वही मिले। क्योकि गूगल की सबसे पहली पसंद है Users जो गूगल पर कुछ चीज़ की जानकारी ढूंढ़ने आते है और फिर है वह कंटेंट जो Website Owners google को प्रदान करते है इसीलिए आपको इस अपडेट से डरने की जरूरत नहीं है आप बढ़िया ढंग से अपना कंटेंट गूगल पर प्रदर्शित करे जिससे लोगो में वह कोई Value Add करे।

    यह भी पढ़ें : Blue Screen of Death Error Kya Hai और कैसे Fix करे?
    यह भी पढ़ें : What is Data Mining In Hindi

    आज अपने क्या नया सीखा

    आज अपने गूगल की एक बेहत जरूरी algorithm के बारे में जाना जिसे हम गूगल Bert Algorithm कहते है और क्या यह अल्गोरिथम अपडेट हमारी वेबसाइट इत्यादि की रैंकिंग्स को क्या असर करता है यह भी जाना हम आशा करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आयी होगी धन्यवाद।

    FAQ About BERT Update

    1. Google Bert Model Update क्या है?

    यह अपडेट गूगल ने यूजर जो लम्बे Sentences सर्च करता है उसके एक्सपेरिंस को बढ़िया बनाने के लिए बनाई गयी है। ताकि गूगल यूजर द्वारा सर्च की गयी Query को अच्छे से समझ सके।

    2. क्या गूगल बर्ट अपडेट के कारण हमें हमारी वेबसाइट में कुछ Changes करने की जरूरत है?

    नहीं आपको आपकी वेबसाइट में कोई भी Changes करने की जरूरत नहीं है।

    3. Neural Networks क्या है?

    Neural Word मनुष्य के मस्तिष्क में जो न्यूरॉन्स है वह से लिया गया है और न्यूरॉन्स इंसानी दिमाग में डाटा को Brain के दूसरे भागो में सिग्नल पहुंचाता है और न्यूरल नेटवर्क्स भी ऐसा ही कुछ काम करते है। इसके साथ AI टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल किया जाता है।

    4. Neural Networks गूगल की किन Applications में Use होता है ?

    1. गूगल ट्रांसलेट
    2. गूगल असिस्टेंट

    Deepak

    I work as a full-time Microsoft Certified Trainer and from the very beginning, I love to share my knowledge with others. That's why I'm with you today.

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *